Wednesday, 17 December 2014

Posted by Krishna
1 comment | 07:20



एशिया पेसिफिक देशों से आये लोगों ने पसंद किया तराई के जंगलों की इस झाकीं को. 

मंथन पुरस्कार २०१४ में नामित हुई दुधवा लाइव 

ई उत्तरा पुरस्कार २०१४ में प्रथम श्रेणी में रहा दुधवा लाइव प्रोजेक्ट 

नई दिल्ली: ४ दिसम्बर- डिजिटल एम्पावरमेंट फाउंडेशन द्वारा आयोजित मंथन पुरस्कार २०१४ व् समिट आफ डिजिटल डेवेलपमेंट के आयोजन स्थल इंडिया हैविटेट सेंटर में दुधवा लाइव द्वारा लगाए गए स्टाल में हिमालयन तराई के साल फारेस्ट की जैव विविधता को फोटोग्राफी, बैनर, वन्य जीवन के सरंक्षण से सम्बंधित कहानियों को दर्शाया गया साथ ही  से भी पावर पॉइंट प्रजेंटेशन व्  स्लाइड शो के जरिये प्रकृति के अद्बुत व् रोमांचित कर देने वाले विषयों पर जानकारी दी गयी. 




इस समिट में प्रमुख सम्बोधन श्रीलंका के शिक्षा मंत्री श्री बंदुला गुणवर्धने, डिजिटल एम्पावरमेंट संस्था के प्रमुख ओसामा मंजर के रहे. समिट के सरंक्षकों में सैम पित्रोदा, आई आई एम के प्रो. अनिलगुप्ता आदि थे.

बांग्ला देश, श्रीलंका व् पाकिस्तान के तमाम प्रतिनिधियों ने अपने इन्नोवेशंस के साथ सक्रीय साझेदारी की.

  दुधवा लाइव डिजिटल मैगजीन व् वेब रेडियो के संस्थापक कृष्ण कुमार मिश्र को मंथन पुरस्कार २०१३ में नामित किया गया जिसके तहत उन्होंने इंडिया हैविटेट सेंटर में दुधवा लाइव की प्रदर्शनी का आयोजन किया। दुधवा लाइव टीम के प्रमुख सहयोगियों में सुशांत झा (पत्रकार एवं लेखक-अनुवादक), हिमांशु तिवारी (पर्यावरण प्रेमी), सतपाल सिंह (वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर), मंगेश त्रिवेदी (पर्यावरण प्रेमी व् योगाचार्य) ने अहम भूमिका निभाई।


रेडियो दुधवा लाइव डेस्क 







Contact

Krishna Kumar Mishra Founder Radio DudhwaLive.com email: editor.dhwalive@gmail.com

About